बेकिंग सोडा की जानकारी

आज हम आपको बेकिंग सोडा के बारे में जानकारी दे रहे है। बेकिंग सोडा होता क्या है। बेकिंग सोडा को हिंदी में क्या कहते है। इसके बारे में बहुत से नही जानते है। इसलिए आज हम इसकी जानकारी लाये है।

बेकिंग सोडा

बेकिंग सोडा किसे कहते है

बेकिंग सोड़ा एक रासायनिक पर्दाथ है। इसको कई कार्यो में उपयोग लिया जाता है। इसको खाने की रेसिपी में काम में लिया जाता है। इसको उपयोग में लेने का मुख्य यह कारण है यह रेसिपी को फुलाने में मदद करती है। बेकिंग सोड़ा का सूत्र NaHCO₃ होता है।

बेकिंग सोड़ा को हिंदी में क्या कहते है

बेकिंग सोडा को हिंदी में कई नामो से जाना जाता है। सभी स्थानों पर इसका अलग अलग नाम से पुकार जाता है। आज इसके सभी नाम के बारे में बता रहे है।

बेकिंग सोडा को हिंदी में मीठा सोड़ा कहते है।
बेकिंग सोडा को हिंदी में खाने का सोड़ा कहते है।
इसको खारा सोडा और धुलाई में काम आने वाला सोडा के नाम से भी जानते है।

क्या मीठा सोडा और बेकिंग सोडा एक ही है

हाँ मीठा सोडा और बेकिंग सोडा एक ही है। इन दोनों में कुछ अन्तर नही है। यह दोनो एक ही के नाम है। इसे कई नाम से जाना जाता है। जैसे मीठा सोडा, बेकिंग सोडा, खाने का सोड़ा जैसे नाम से जाना जाता है। क्या मीठा सोडा और बेकिंग सोडा एक ही है इसका उत्तर हे हाँ यह दोनों एक ही है।

मीठा सोडा और बेकिंग सोडा में अंतर

मीठा सोडा और बेकिंग सोडा में कोई भी अंतर नही है। क्योकि यह दोनों एक ही है। कभी कोई समान वस्तु में कोई अंतर हो सकता हे नही। जिस प्रकार समान वस्तु ने अंतर नही होता है। ऐसे ही मीठा सोडा और बेकिंग सोडा में अंतर नही है। यह मात्र एक ही चीज के दो नाम है
Put your ads code here

बेकिंग सोडा का उपयोग

बेकिंग सोड़ा को सबसे ज्यादा उपयोग में लेते हे वो हे खाने की रेसिपी में। इसका खाने की रेसिपी को फुलाने के लिए करता है।
इसको उपयोग में लेने के लिए इसको किसी खट्टी वस्तु (अम्ल) के साथ मिलाकर काम में लेते है। यह बुलबुले पैदा करती है। जिससे रेसिपी फूल जाती है।

खाने के सोडा या मीठा सोडा के फायदे बहुत है। आप बेकिंग सोड़ा से पीले पड़े दाँतो को सफेद कर सकते हो। यह अम्ल को प्रभावहीन कर प्लाक को हटाने में भी सहायता करता है।

  • अपने सामान्य मंजन के साथ साथ टूथब्रश पर बेकिंग सोडा भी मिला ले। आप जैसे आप नियमित रूप स मंजन करते हो वैसे दिन में दो बार ब्रश करे।
  • आप दो चमच्च बेकिंग सोडा में चार चम्मच हल्दी का पाउडर और तीन चम्मच नारियल तेल मिलाएं। इनका पेस्ट बनाकर तैयार करे। कुछ दिन तक रोज इस्तेमाल करें।

बदबूदार बाल और तेलीय बालो को साफ करने में : बदबूदार बाल और तेलीय बालो को आप बेकिंग सोड़ा के इस्तेमाल करते आप बदबूदार बाल और तेलीय बालो से छुटकारा पा सकते हो।

आप इन्हें शैम्पू के बोतल में एक चमच्च बेकिंग सोडा भी मिला ले। जिस प्रकार आप बाल धोते हो वैसे ही बाल को धोये। जिससे आपके बाल साफ हो जायेगे।

बैकिंग सोड़ा से शरीर की दुर्गंध को भी दूर कर सकते हो। है। बैकिंग सोड़ा नमी सोखता और त्वचा पर से पसीने को भी सोख लेता है जिससे कारण दुर्गंध पैदा होती है। इसके एंटीबैक्टेरियल गुण की वजह के कारण से यह बैक्टेरिया मारता है और शरीर से दुर्गंध को दूर करता है।

कीड़े मकोड़े खासकर तेलचटा को मारने के लिए यह एक बहुत ही अच्छा तरीका है। मीठा सोड़ा में मौजूद गैस की वजह से कीड़ों के अंग क्षतिग्रस्त हो जाते है। जिससे कीड़े मर जाते है। खाने का सोडा का उपयोग बहुत काम के है।

बेकिंग सोडा के नुकसान

बेकिंग सोडा के जितने फायदे हे उतना ही इससे नुकसान भी है। इसलिए आप इसके नुकसान भी जान ले।

कभी कोई भी वस्तु का ज्यादा इस्तेमाल नही करना चाहिए। बेकिंग सोडा का इस्तेमाल ज्यादा नहीं करना चाहिए। इसका ज्यादा इस्तेमाल करने से इलेक्ट्रोलाइट और एसिड में असंतुलन का खतरा बढ जाता है। जिसके कारण शरीर को नुकसान पंहुचा है।

बेकिंग सोडा का का इस्तेमाल अतिसवेदंशील त्वचा पर नही करना चाहिए। जैसे आँखों के आस पास कभी भी इस्तेमाल नही करना चाहिए। कटे तथा चोट के निशान पर भी इसको नहीं लगाना चाहिए। जिसके कारण खुजली समस्या हो सकती है।

जो 6 साल से कम उम्र के बच्चों को इसका सेवन नही करना चाहिए। क्योकि इसके इस्तेमाल से से उल्टी
जैसा महसूस होता है, सिर दर्द, चिडचिडापन, मांसपेशियों में कमजोरी, जोड़ों में दर्द जैसी परेशानी आ सकती है।

यदि आप इससे दांत साफ करते हो तो साफ होने के बाद इसका इस्तेमाल नही करना चाहिए। क्योकि यह दाँत के लिए भी हानिकारक हो सकता है। मीठा सोडा के नुकसान भी बहुत है। इसे समझ कर इस्तेमाल करना चाहिए।

इसमें हमने मीठा सोडा क्या होता है, खाने का सोडा का उपयोग, बेकिंग सोडा के नुकसान जानकारी दे चुके है। यदि कोई समस्या हो तो हमे कमेंट करे।

Updated: March 16, 2018 — 10:20 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

kya hai © 2019